PostImage

Savitri Rahandgle

Yesterday   

PostImage

Father Day 2024: जानें कैसे बनाएं फादर डे को अपने …


Father Day 2024: Father's Day हर साल जून महीने के तीसरे रविवार को मनाया जाता है, यह दिन अपने पिताओं के प्रति प्यार और सम्मान व्यक्त करने का एक खास अवसर है। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि Father's Day का महत्व क्या है, इसका इतिहास क्या है और इसे कैसे मनाया जा सकता है।

 

Father's Day पिता का महत्व

पिता का हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान होता है। वो न सिर्फ हमारे जीवन के पहले हीरो होते हैं, बल्कि हमारे सबसे बड़े मार्गदर्शक, समर्थक और प्रेरणा भी होते हैं। उनकी शिक्षा, अनुशासन और समर्थन हमें जीवन की चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करता है। पिता हमें सही और गलत के बीच का अंतर समझाते हैं, हमारे सपनों को पंख देते हैं और हर मुश्किल घड़ी में हमारे साथ खड़े रहते हैं।

 

Father's Day का इतिहास

Father's Day की शुरुआत सबसे पहले अमेरिका में हुई थी। इसे आधिकारिक रूप से 1966 में राष्ट्रपति लिंडन बी. जॉनसन ने जून के तीसरे रविवार को मनाने की घोषणा की थी। हालांकि, इसका विचार 1909 में सोनोरास्मार्ट डॉड द्वारा आया था, जिन्होंने अपने पिता को सम्मानित करने के लिए यह दिन मनाने का सुझाव दिया था। उनके पिता, विलियम स्मार्ट, एक सिंगल पैरेंट थे जिन्होंने अपने छह बच्चों की परवरिश अकेले की थी।

 

Father's Day कैसे मनाएं

 

पिता दिवस को मनाने के कई तरीके हैं, जिनसे आप अपने पिता को खास महसूस करवा सकते हैं:

  • तौफे दें: एक अच्छा उपहार हमेशा खुशी देता है। यह कोई बड़ी चीज नहीं होनी चाहिए, बल्कि आपके प्यार और आदर को व्यक्त करने वाला छोटा सा उपहार भी पर्याप्त है।
  • समय बिताएं: पिता के साथ समय बिताना सबसे अच्छा तरीका है उन्हें विशेष महसूस कराने का। उनके साथ आउटिंग पर जाएं, मूवी देखें या फिर घर पर ही उनके पसंदीदा खेल खेलें।
  • घर का बना खाना: उनके पसंदीदा भोजन को घर पर बनाकर उनके लिए खास सरप्राइज तैयार करें।

निष्कर्ष
पिता दिवस हमें हमारे पिताओं के प्रति अपनी भावनाओं को व्यक्त करने का एक सुनहरा अवसर होता है। यह दिन सिर्फ उपहारों और उत्सवों का नहीं, बल्कि अपने पिता के योगदान और त्याग को मान्यता देने का भी है। तो इस Father's Day पर, अपने पिता को यह जताएं कि वे आपके लिए कितने खास हैं और उनके बिना आपका जीवन अधूरा है।

 


PostImage

Sujata Awachat

June 11, 2024   

PostImage

Social Media: बच्चों को लत लगाने वाले पोस्ट पर लगेगा …


Social Media: हाल ही के दिनों में छोटे बच्चों में सोशल मिडिया और मोबाइल का पागलपन दीखता है. ये लत बंद करने के लिए अमेरिका में क़ानूनी कदम उठाएं जा रहे है. बच्चों को लत लगे ऐसे सोशल मीडिया के पोस्ट पर प्रतिबन्ध लगाने के संबंध में न्यूयॉर्क के सीनेट ने बिल पास कर दिया है. गवर्नल कैथी होचुल ने साइन करने बाद बिल का को कानून में तब्दील होगा।

ये भी पढे : Free Laptop Yojana 2024: अब सरकार दे रही है फ्री में लैपटॉप, लाभ लेने के लिए यहाँ क्लिक करें 

बिल के अनुसार, 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को लत लगाने वाली पोस्ट दिखाया नहीं जा सकता। बच्चे जिनको फॉलो करेंगे उन्ही की पोस्ट उनको दिखाई देगी। लत लगाने वाली पोस्ट माता पिता के सहमति के बाद ही नाबालिक बच्चों को दिखाया जाएगा।

 

विज्ञापन दिखाकर अरोबो डॉलर की कमाई 

सोशल मीडिया कंपनियों ने विज्ञापन दिखाकर पैसे कमाते है. हार्वर्ड विश्वविद्यालय के अनुसार, 2022 सोशल मीडिया कंपनियों ने नाबालिक बच्चों को विज्ञापन दिखाकर लगभग 918 अरब रुपये कमाए। इंस्टाग्राम और फेसबुक कंपनी मेटा ने गए साल कुछ सविंधा लाए थे. उनकी मदत से बच्चे सोशल मिडिया पर कितना समय बिताते है, इस पर माता पिता नजर रख सकते है.

 

लत लगाने वाली पोस्ट मतलब क्या?

सोशल मीडिया के ऐसे पोस्ट जिन्हे देखकर मन आकर्षित होता है. उसेही लत लगाने वाली पोस्ट कहते है. ऐसे पोस्ट दखने के बाद दिमाग में एक अलग प्रकार की उत्तेजना निर्माण होती है. ये उत्तेजना बार बार होने से एक प्रकार लत लगती है.

 


PostImage

Savitri Rahandgle

June 9, 2024   

PostImage

International News: 16 फिट के अजगर ने महिला को जिंदा …


 International News: फिल्मों में बहुत बहुत बार सांप ने इंसान को निगलने वाला सिन दिखाया जाता है. जिन्दा व्यक्ति को बड़े बड़े सांप निगल जाने के सिन दिखाए जाते है. लेकिन इंडोनिशिया में ऐसीही एक रोंगटे खड़े कर देने वाली खबर सामने आई है. इंडोनेशिया में एक महिला को  अजगर ने पूरा निगल लिया है. उसके बाद गाओं वालो ने अजगर का पेट काटकर महिला का शव बाहर निकला है. शनिवार को स्थानीय अधिकारीयों ने इस मामले की जानकारी दी.

ये भी पढे : Sunita Williams : सुनीता विलियम्स ने तीसरी बार अंतरिक्ष में भरी उड़ान

इंडोनेशिया indonesia के दक्षिण सुलावेसी प्रांत के कलेमपांग गाओं में ये घटना घाटी है. अजगर ने निगले हुए महिला की पहचान हो चुकी है. मृत महिला का नाम फरीदा है. गाओं के प्रमुख ने बताया की, वो 4 बच्चो की माँ है. फरीदा गुरुवार को लापता हुए थी. और वो घर वापस नहीं आई. उसके बाद गाओं के लोगों ने उसे ढूँढना शुरू किया। 

ये भी पढे : Health Tips In Hindi : खाने के बाद होती है सीने में जलन तो अपनाएं ये बेस्ट टिप्स

गांव वालो ने फरीदा को ढूढ़ना शुरू करने के बाद उनको 16 फिट लंबा अजगर दिखा, जिसका पेट बहुत ज्यादा बड़ा था. गांव वालो को अजगर का पेट दखकर शक हुआ. इसलिए स्थानीय अधिकारीयों के साथ मिलकर अजगर का पेट कटाने का निर्णय लिया गया. गांव वालो ने अजगर का पेट कटाने को शुरुआत करते ही, उन्हें पहली चीज दिखी। वो था फरीदा का सिर उसके बाद फरीदा जिस अवस्था में लापता हुई थी उसी अवस्था में अजगर के पेट से मिली। अजगर ने फरीदा को पूरी तरह से निगल लिया था.

 


PostImage

Worldwide News

June 7, 2024   

PostImage

Plane crashes in Arvada front yard, neighbors rescue victims


Plane crashes in Arvada: A small plane crashed into the front yard of a home in Arvada early Friday morning, injuring two adults and two teenagers. According to the Arvada Police Department, the incident happened just after 10 a.m. near Oberon Road and Carr Street.


Quick emergency response

Emergency crews were on the scene immediately, putting out the fire and smoke coming from the wreckage. Photos from police, FOX31 and local witnesses showed pieces of the plane in shreds. Shortly after 10 a.m., FOX31’s Samantha Spitz reported the smoke had been put out. The severity of the victims’ injuries is still unknown.


Neighbors became heroes

Witnesses described how neighbors immediately stepped in to help. Evan Sherlock, a witness to the crash, spoke to FOX31 about the dramatic moments leading up to the incident.

Sherlock was driving in Arvada to get mulch for his yard when he saw the plane flying dangerously low, folding its wings and tilting.

"At first I kept driving, but then I looked in my rearview mirror and the plane had disappeared," Sherlock said. He quickly made a U-turn and discovered the plane had crashed into the front yard.

"I couldn't believe what I was seeing. I thought maybe it was a crop duster, but then I realized something was very wrong. The plane was flying very low," Sherlock said.

When he arrived at the crash site, Sherlock saw debris scattered across the yard and smoke rising from the wreckage. Neighbors were already pulling victims out of the plane.


PostImage

Savitri Rahandgle

June 7, 2024   

PostImage

Sunita Williams : सुनीता विलियम्स ने तीसरी बार अंतरिक्ष में …


Sunita Williams : बुधवार को भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स Sunita Williams और उनकी एक सहकर्मी ने तीसरी बार अंतरिक्ष में उड़ान भरी। इसके अलावा, इस जोड़ी ने बोइंग कंपनी के स्टारलाइनर Boeing Company's Starliner अंतरिक्ष यान पर सवार होकर अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन International Space Station पर पहुँचने वाले पहले यात्री बनकर इतिहास रच दिया।

ये भी पढे : Driving Licence : 1 जून से ड्राइविंग लाइसेंस के लिए RTO ऑफिस जाने की जरुरत नहीं

कई देरी के बाद, विलियम्स और बुच विल्मोर Butch Wilmore बोइंग के क्रू फ़्लाइट टेस्ट मिशन पर रवाना हुए, जो फ़्लोरिडा के केप कैनावेरल स्पेस सेंटर से उड़ा। विलियम्स ने इस तरह के मिशन पर पहली महिला पायलट बनकर इतिहास रच दिया।

ये भी पढे : Elon Musk : आने वाले 30 साल में मंगल ग्रह पर बसेंगे शहर, एलोन मस्क इनकी भविष्यवाणी

विलियम्स ने 2012 में इतिहास रच दिया जब उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन का दौरा करते हुए अंतरिक्ष में ट्रायथलॉन पूरा किया। विलियम्स ने मई 1987 में यूएस नेवल अकादमी में अपने प्रशिक्षण के बाद यूएस नेवी में भर्ती हुए। नासा ने 1998 में विलियम्स को अंतरिक्ष यात्री के रूप में चुना था. विलियम्स और विल्मोर इनके अंतरिक्ष सफर को 25 घंटे लगेंगे ऐसी अपेक्षा है.

 


PostImage

Savitri Rahandgle

May 18, 2024   

PostImage

Elon Musk : आने वाले 30 साल में मंगल ग्रह …


Elon Musk : मानव गए अनेक दशकों से अंतरिक्ष के रहस्य जानने का प्रयास कर रहा है. अनेक देशों ने अभीतक बहुत सारे अंतरिक्ष में खोज अभियान चलाया है, जिनके माध्यम से दूसरे ग्रहों पर मानवी जीवन की उपस्थिति और वहां रहने योग्य वातावरण की खोज की है. ऐसे ही टेक्नोलॉजी क्षेत्र के दिग्गज उद्योगपति एलोन मस्क technology industrialist Elon Musk इन्होने मंगल ग्रह के बारे में एक बड़ी बात कहीं है. एलोन मस्क इनके अनुसार, बहुत जल्द मंगल ग्रह पर मानवी जीवन बसाया जा सकता है.

ये भी पढे : taarak mehta ka ooltah chashmah : 7 साल के बाद 'तारक मेहता शो में दिखेगी दूसरी दयाबेन, जानिए वो कोण होगी

ये भी पढे : Haldiram : सबका पसंदीदा हल्दीराम ब्रांड बहुत जल्द जाएगा विदेशी कंपनी के हाथ में

SpaceX के फाउंडर एलोन मस्क Elon Musk इन्होने X पर उनके एक फॉलोअर के ट्वीट उत्तर देते हुए कहां की, मंगल ग्रह पर जाने के लिए हम बस थोड़े वर्ष दूर है. आने वाले 5 साल में बिना मानव के यान भेजा जाएगा, उसके आने वाले 10 साल में मानव को मंगल ग्रह पर भेजा जाएगा। 20 साल में एक शहर और 30 साल में एक बड़ी सभ्यता निर्माण कर सके.... ऐसा उन्होंने कहां।

ये भी पढे : Indian Railways Recruitment 2024 : भारतीय रेलवे में निकली इतने पदों की भर्ती

Elon Musk एलोन मस्क इनके पोस्ट पर यूजर्स आने प्रतिक्रिया दे रहें है. एलोन मस्क इन्होने 2002 में SpaceX ने कदम रखा. लिक्विड प्रोपेलेंट रॉकेट अंतरिक्ष में भेजने वाली ये पहली कंपनी बानी थी. उनके कंपनी ने अभीतक कहीं सारे प्रोजेक्ट नासा क मदत की है.


PostImage

Rahul Bisen

May 12, 2024   

PostImage

dirty act in restaurant : खाद्य पदार्थ पर घिसता था …


dirty act in restaurant : दोस्तों हम सब लोग बहुत खुश हो कर बाहर होटल में खाना खाने जाते है. लेकिन कोई होटल में कभी अस्वच्छता दिखाई देती है. ऐसा ही कुछ प्रकार अमेरिका US के कॉन्संस शहर के एक होटल में सामने आया है. एक होटल में काम करने वाला एक वेटर ऐसा गंदा काम करता है की, ये समझने के बाद लोगों को बहुत बड़ा झटका लगा है. 21 वर्षीय जेस क्रिस्टियन हैंसंस ने काबुल किया है की, वो खाने में उसके प्राइवेट पार्ट को घिसता था. इसके आलावा खाने में पेशाब भी करता था. हेअरफोर्ट हॉउस स्टीकहाउस रेस्टारेंट Herefort Haus Steakhouse Restaurant में काम करने वाले एक वेटर ने कबूल किया है की, उसने सॅलमन फिश पर उसने प्राइवेट पार्ट घिसा और सॉस, अचार में पेशाब की.

ये भी पढे : Andhra Pradesh News : नोटों से भरा ट्रक, हुआ पलटी रास्ते पर गिरे 7 करोड़

उसने ऐसा प्रकार लगभग 20 बार किया है ऐसा कबूल किया है. उसने बताया की डेटिंग आप्स और फेटिश वेबसाइट  पर उसके दोस्त उसको ऐसा काम करने के लिए बताते थे. पुलिस में एक वेबसीटे पर पोस्ट किया हुआ एक वीडियो थंबनेल देखा था. हैंडलायझर नाम के एक यूजर ने ये वीडियो वेबसाइट पर डाला था.

वीडियो में एक व्यक्ति रेस्टारेंट के खाने पर अपना प्राइवेट पार्ट घिसते हुए दिख रहा है. इसके साथ ही उसने खाने में पेशाब करते हुए भी दिख रहा है. उसने खाने को पाव से कुछला फिर उसके बाद वो लोगों को खाने के लिए दिया था. पुलिस में होटल के मनिजर से संपर्क किया उसने बताया की, ये उनके रेस्टारेंट का खाना था जो वीडियोमें दिख रहा था.उसके बाद हैंसंस को बुलाया गया और हैंसंस ने किए हुए गंदे काम की कबुली की है.

ये भी पढे : Aadhar card photo update: आधार कार्ड का फोटो चेंज करना है, जानिये पुरा प्रोसेस

उसने ये भी बताया की, वो होटल में हस्तमैथुन करता था लेकिन उसने कभी भी खाने में नहीं मिलाया। ये काम पसंद नहीं था इसलिए ये गन्दा काम करता था ऐसा उसने बताया। लेकिन ये गन्दा काम करने से उसको ये काम पसंद आने लगा था. हॅनस को गिरफ्तार किया है.

 


PostImage

Pankaj Lanjewar

May 6, 2024   

PostImage

पत्रकारांची मुस्कुटदाबी, लोकशाहीचा खून


पत्रकारांची मुस्कुटदाबी, लोकशाहीचा खून.

निपक्ष,स्वच्छ निवडणूक प्रक्रियेत पत्रकारांच्या पासेस नाकारल्या.
दोशींचे निलंबन,पासेसचे वाटप करण्याची मागणी.

स्वच्छ आणि निपक्ष निवडणूक प्रक्रियेत पत्रकारांची मुस्कुटदाबी होत असल्याची गंभीर बाब बुलढाणा जिल्ह्यात घडली आहे. असंख्य पत्रकारांना निवडणूक प्रक्रियेत सहभागी, परवानगी पासेस नाकारण्यात आल्याचे धक्कादायक वृत्त समोर आले आहे. तर या अनुषंगाने संबंधित निवडणूक निर्णय अधिकारी, जिल्हाधिकारी तथा जिल्हा माहिती अधिकारी यांच्याशी पत्रकारांच्या शिष्टमंडळाने चर्चा केली.निवेदन, तक्रार दिले. तरीही अद्याप कोणतेही पास वाटप वगळलेल्या पत्रकारांना केली नाही. तर पासेस नाकारणाऱ्या संबंधित अधिकाऱ्यांवर कारवाई सूद्धा करण्यात आली नाही. त्यामुळे जिल्ह्यातील पत्रकारांनी नुकतीच एक ऑनलाइन बैठक घेतली. त्यामध्ये जिल्हा प्रशासनाच्या हुकूमशाहीचा निषेध नोंदविला. तर संबंधित दोषी अधिकारी यांना तत्काळ निलंबित करावे. शेवटच्या पत्रकाराला सुद्धा पासेस वाटप करावे.अशी भूमिका या ऑनलाइन बैठकीत घेण्यात आली.        
निपक्ष आणि स्वच्छ प्रशासनात पत्रकारांना माहिती मिळविण्यासाठी आणि देण्यासाठी कोणतेही प्रयत्न करावे लागत नाही. परंतु गलथाण आणि भ्रष्ट प्रशासनामध्ये पत्रकारांना माहिती मिळविण्यासाठी प्रयत्नांची पराकाष्टा करावी लागते.तरीही माहिती मिळेल असे नाही. उलट पक्षी पत्रकारांची मुस्कुट दाबी करून त्यांना बदनाम केल्या  जाते. त्यांना बनावट गुन्ह्यात अटकविण्यात येते. परंतु पत्रकारांची एकताच अधिकारांचे सार्वभौमत्व आबाधीत ठेवत असते. याकडे काही पत्रकार बांधवांचे दुर्लक्ष झाले आहे.त्यामुळेच आपल्यावर ही वेळ आली आहे. लोकशाहीमध्ये पत्रकारांच्या अभिव्यक्ति स्वतंत्र्यावर गधा. ही हुकूमशाहीची नांदी आहे. जोपर्यंत पत्रकारांना अभिव्यक्ती स्वातंत्र्य आहे. निर्भीड पत्रकार जिवंत आहे. तोपर्यंतच लोकशाही जिवंत आहे.तोपर्यंत समाजाच्या हितासाठी लिहिणारे, बोलणारे आणि लढणारे कोणीतरी आहे. अन्यथा सामान्य व्यक्ती या हुकूमशाही विरोधात, पुढे येण्यासही धजावत नाही. परंतु जनसामान्यांनी पत्रकारांच्या या अधिकारासाठी कमीत कमी आवाज उचलला पाहिजे. पत्रकार समाजासाठी आहे. त्यांच्या संरक्षणाची जबाबदारी सुद्धा समाजाची आहे. स्वच्छ शासन प्रशासनासाठी जनहितार्थ लेखनी झिजवणाऱ्या पत्रकारांना आपण तळहातावरच्या फोडाप्रमाणे जपलं पाहिजे.तरच लोकशाही जिवंत राहील, आणि हुकूमशाहीचा अंत होईल.
तर पत्रकारांनीही सौजन्यशीलतेने, आपल्या जबाबदारीचे भान ठेवत जनतेसाठी सर्वस्वपनाला लावले पाहिजे.जाहिराती मिळतील नाही मिळतील. परंतु आपल्यातील पत्रकार जिवंत राहिला पाहिजे. जाहिराती मिळाल्यावरही जर काही आक्षेपार्य चुकीचे आढळल्यास त्यावर अंकुश ठेवण्याची जबाबदारी आपलीच आहे. आपल्यावरच भोळ्या भाबड्या सामान्य जनतेचा विश्वास आहे. या विश्वासाला तडा जाणार नाही. यासाठी पत्रकारांनी सदसदवेकबुद्धी जिवंत ठेवीत जनसामान्यांच्या हितासाठी लेखणी झिजवली पाहिजे. बुलढाणा जिल्ह्यातील पत्रकारिता आदर्श आहे. याच जिल्ह्यातील पत्रकारितेने सरकार सूद्धा पाडले आहे. सरकारचे मोठमोठे निर्णय बदलले. असंख्य योजना पत्रकारांच्या लेखणीतून उदयास आल्या. त्याच योजना नंतर संपूर्ण महाराष्ट्राने स्वीकारल्या. पत्रकारांनी या जिल्ह्याचे लोकप्रतिनिधी ही निवडले आहे. तर भल्या भल्यांना जमीन दोस्त करण्याची ताकदही पत्रकारांच्या लेखणीने दाखवली आहे.ही क्षमता बुलढाणा जिल्ह्यातील पत्रकारांची आहे. बुलढाणा जिल्ह्यातील पत्रकारितेच्या इतिहासाची सद्यस्थितीतील हुकूमशाही सरकारला आणि जिल्हा प्रशासनाला आठवण करून देण्याची वेळ आली आहे.
जर निवडणूक प्रक्रिया निपक्ष आहे. स्वच्छ प्रशासनाचा कार्यभार आहे.तर मग पत्रकारांच्या उपस्थितीस मज्जाव का.❓त्यांची मुस्कुटदाबी का..?कोणाच्या सांगण्यावरून.         असे असंख्य प्रश्न या निमित्ताने समोर येत आहे. जिल्हा प्रशासन सुज्ञ आहे. लवकर निर्णय घेईल, दोषींवर त्वरीत कारवाई करेल. हीच माफक अपेक्षा जिल्ह्यातील पत्रकार आणि नागरिकांची आहे.
        तूर्तास एवढेच.
पुढील विश्लेषणात.                                                     स्वच्छ निपक्ष निवडणूक प्रक्रिया.
10.03 टक्केवारी कोणाच्या पथ्यावर.
प्रतापराव तुपकर की, खेडेकर.
शेळके शाह कूणाला गारद करणार. 
_____________________

 


PostImage

Rahul Bisen

May 1, 2024   

PostImage

Goldy Brar Death in America : सिद्धू मुसेवाला हत्या का …


Goldy Brar Death : पंजाबी गायक सिद्धू मुसेवाला हत्याकांड का मास्टरमाइंड गोल्डी ब्रार Goldy Brar की अमेरिका में हत्या करने का दावा किया जा रहा है. डल्ला-लखबीर गैंग ने इसकी जिम्मेदारी ली है. गुन्हेगारी की दुनिया में हड़कंप मच गई है.

गोल्डी ब्रार Goldy Brar को अमेरिका में गोलियों से छलनी कर दिया गया ह. गोल्डी का असली नाम सतिंदरजीत सिंह है. उसके पिताजी पंजाब पुलिस में PSI थे वो अब इस दुनिया में नहीं रहे. 

मंगलवार शाम को गोल्डी उसके फेयरमोंट होल्ट एवेन्यू में घर के सामने खड़ा था इस दौरान उसपर गोलिया चली ऐसा बताया जा रहा है. गोल्डी के साथ उसके साथीदार भी थे. उसमेसे एक की मौत हो गई. ऐसा बताया जा रहा है. केलिन गोल्डी की हत्या होने की पुष्टि अभीतक नहीं हुई है. 

भारत में अलग अलग गुन्हा करके गोल्डी अमेरिका में फरार हो गया था. लेकिन सिद्धू मुसेवाला के हत्या के बाद प्रकाश में आया था. चचेरे भाई गुरुलाल ब्रार हत्या होने के बाद उसने गुन्हेगारी के दुनिया में पाव रखा था.


PostImage

Sajit Tekam

April 21, 2024   

PostImage

Elon Musk : एलन मस्क ने बहुत भरी टेस्ला दायित्वों …


 Elon Musk : एलन मस्क ने शनिवार को कहा कि उनकी प्रस्तावित भारत यात्रा कुछ समस्या के कारण स्थगित कर दी गई है. The CEO of electric car maker Tesla - जिनके 21 और 22 अप्रैल को भारत में रहने की उम्मीद थी. और Prime Minister Narendra Modi. से मिलने वाले थे. ने X पर लिखा कि वह इस साल के अंत में भारत में आने वाले है. मस्क ने एक्स पर एक पोस्ट के जवाब में लिखा, "दुर्भाग्य से, बहुत भारी टेस्ला दायित्वों के कारण भारत की यात्रा नहीं हो पाई लेकिन मैं इस साल के अंत में भारत यात्रा जरूर करूँगा.

22 को स्थगित कर दिया गया है क्योंकि इसका कारण यह हो सकता है कि उन्हें 23 अप्रैल को टेस्ला की कमाई कॉल में भाग लेने की आवश्यकता है. इस महीने की शुरुआत में, उन्होंने एक्स पर एक पोस्ट के साथ अपनी भारत यात्रा की पुष्टि की थी, जिसमें कहा गया था, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक के लिए उत्सुक हूं. भारत में"। पिछले साल जून में Elon Musk ने Narendra Modi की AMERICA यात्रा के दौरान उनसे मुलाकात की थी और कहा था कि उन्होंने 2024 में भारत आने की योजना बनाई है. उन्होंने भरोसा जताते हुए कहा कि टेस्ला जल्द ही भारतीय बाजार में प्रवेश करेगी.


PostImage

Sajit Tekam

April 10, 2024   

PostImage

Dr. BR Ambedkar Jayanti 2024 : डॉ. बीआर अंबेडकर जयंती …


Dr. Ambedkar Jayanti सबसे प्रमुख भारतीय नागरिक अधिकार कार्यकर्ताओं, वकील और राजनीतिज्ञ में से एक के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाई जाती है। उनका जन्म 14 अप्रैल 1891 को हुआ था। इस दिन 2015 से 25 से अधिक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सार्वजनिक होती है। डॉ. अंबेडकर को भारतीय संविधान का मसौदा तैयार करने और वंचितों और दलितों के लिए समान अधिकारों के लिए लड़ने में उनके योगदान के लिए याद किया जाता है। इस दिन को Bhim Jayanti या Bhimrao Ambedkar Jayanti भी कहा जाता है। जनार्दन सदाशिव राणापिसाय ने पहली बार 1928 में पुणे में भीम जयंती मनाई थी। Dr. BR Ambedkar Jayanti 2024 के बारे में अधिक जानकारी के लिएये ब्लॉग पूरा पढ़ें।

 

When is Dr. Babasaheb Ambedkar Jayanti in 2024?

हर साल, डॉ. बीआर अंबेडकर के जन्मदिन के उपलक्ष्य में डॉ. अंबेडकर जयंती की तारीख 14 अप्रैल को पड़ती है। 2015 से इस दिन पूरे देश में राष्ट्रीय छुट्टी होती है। इस साल भीमराव जयंती रविवार को है। इस वर्ष डॉ. अंबेडकर जयंती 2024  उनकी 133 वीं जयंती है।

 

History and background of Dr. Ambedkar Jayanti 

एक समाज सुधारक के रूप में भारत में बाबा साहब भीम राव रामजी अंबेडकर के योगदान को याद करने के लिए देश भर में अंबेडकर जयंती मनाई जाती है। जयंती हर साल 14 अप्रैल को मनाई जाती है। यह तारीख डॉ. बीआर अंबेडकर के जन्मदिन का प्रतीक है। भीम जयंती पहली बार 1928 में पुणे में बीआर अंबेडकर के अनुयायियों में से एक जनार्दन सदाशिव राणापिसे द्वारा मनाई गई थी। डॉ अंबेडकर की तरह, वह भी एक सामाजिक कार्यकर्ता थे।

तब से, इस दिन को डॉ. अम्बेडकर जयंती के रूप में मनाया जाता है। इस दिन को 25 भारतीय राज्यों में सार्वजनिक अवकाश के रूप में भी मनाया जाता है।

 

डॉ. अम्बेडकर जयंती की छुट्टी क्यों मनाई जाती है?

सभी के लिए समान अधिकारों की दिशा में डॉ. भीम राव अम्बेडकर के योगदान का सम्मान करने के लिए हर साल 14 अप्रैल को डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर जयंती मनाई जाती है। जनार्दन सदाशिव राणापिसाय ने डॉ. अंबेडकर की स्मृति में जन्मदिन मनाने की परंपरा शुरू की। वह डॉ. अंबेडकर की तरह एक सामाजिक कार्यकर्ता और उनके आगमन अनुयायियों में से एक थे। उन्होंने सबसे पहले भीम जयंती 1928 में पुणे में मनाई थी।

 

डॉ बीआर अंबेडकर जयंती कैसे मनाई जाती है?

बाबासाहेब अम्बेडकर की जयंती देश भर में मनाई जाती है, विशेषकर महिलाओं, दलितों, आदिवासियों, मजदूरों और अन्य सभी समूहों द्वारा। सम्मान स्वरूप समाज सुधारक डॉ. अम्बेडकर के स्मारकों और चित्रों पर फूल चढ़ाये जाते हैं। 2016, 2017 और 2018 में संयुक्त राष्ट्र ने भी अम्बेडकर जयंती का सम्मान किया। इस दिन, सांस्कृतिक कार्यक्रम और अम्बेडकर के जीवन के बारे में बताया जाता है, राष्ट्र के लिए उनके योगदान के बारेमें बताया जाता है।

अंबेडकर के सिद्धांत आज भी लागू हैं. भारत की सामाजिक-सांस्कृतिक व्यवस्था की स्थापना में बाबासाहेब की सक्रिय भागीदारी के बिना, पुराने और पुरातनपंथी विचारों से हटकर देश को दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र बनाना व्यावहारिक रूप से असंभव होता।

 

Significance of Ambedkar Jayanti

डॉ. अंबेडकर जयंती भारत के लोगों के लिए अत्यंत महत्व रखती है। यह तारीख भारत के सबसे प्रमुख समाज सुधारकों में से एक के जन्मदिन का प्रतीक है। इसे दुनिया की सबसे बड़ी जयंती माना जाता है। देश भर में लोग डॉ. बीआर अंबेडकर को भारतीय संविधान का मसौदा तैयार करने में उनके योगदान के लिए याद करते हैं। 14 अप्रैल को लोग उनकी विरासत और जीवन के अनुभवों को याद करते हैं।

डॉ. अंबेडकर को बाबासाहेब अंबेडकर के नाम से भी जाना जाता था। वह भारत में एक न्यायविद्, राजनीतिज्ञ, अर्थशास्त्री और समाज सुधारक थे। उन्हें भारतीय संविधान के निर्माता के रूप में उनके काम और दलितों के खिलाफ सामाजिक भेदभाव को खत्म करने के प्रयासों के लिए जाना जाता है। अम्बेडकर जयंती, जिसे भीम जयंती भी कहा जाता है, उनके जन्मदिन के उपलक्ष्य में हर साल 14 अप्रैल को मनाई जाती है।

 

Educational and political achievements

उन्होंने कुछ सबसे प्रसिद्ध शैक्षणिक संस्थानों से अपनी शिक्षा प्राप्त की। इनमें एलफिंस्टन कॉलेज, मुंबई; लंदन स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स, यूके; और कोलंबिया विश्वविद्यालय, यूएसए।

विदेश में किसी शैक्षणिक संस्थान से अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट करने वाले पहले भारतीय होने के अलावा, वह मुंबई के सरकारी लॉ कॉलेज में 2 साल तक प्रिंसिपल भी रहे। डॉ. अंबेडकर को भारत में कानून और न्याय मंत्री के रूप में भी नियुक्त किया गया था।

उन्होंने भारत के संविधान का मसौदा तैयार करने के लिए गठित समिति का भी नेतृत्व किया। अंततः 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान को अपनाया गया।

 

Champion of equality and individual freedom

डॉ. अंबेडकर एक प्रसिद्ध सामाजिक-राजनीतिक सुधारक हैं, जिन्होंने समान अधिकारों की अपनी विरासत के साथ आधुनिक भारत पर स्थायी प्रभाव छोड़ा है। वह व्यक्तिगत स्वतंत्रता के प्रबल समर्थक थे और जाति-आधारित भेदभाव को बढ़ावा देने वाले समाज और व्यवस्था की सक्रिय रूप से आलोचना करते थे।

 

Contribution of Dr. BR Ambedkar

  • डॉ. अंबेडकर ने उन्होंने डेली कम्युनिटी के लिए संघर्ष किया और दलित बौद्ध आंदोलन को प्रेरित किया।
  • उन्होंने ने भारतीय संविधान का मसौदा तैयार किया जिसे 26 नवंबर को संविधान सभा ने स्वीकार कर लिया।
  • उन्होंने लोगों को अधिक प्रयास करने और अपने औद्योगिक और कृषि व्यवसायों को बढ़ाने के लिए प्रेरित किया.  दूसरों को भी सार्वजनिक स्वास्थ्य और शिक्षा को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया।
  • उन्होंने भारतीय रिज़र्व बैंक के गठन में महत्वपूर्ण योगदान दिया, जिसे आज भारत के सेंट्रल बैंक के रूप में जाना जाता है।
  • 15 अगस्त, 1947 को भारत के ब्रिटिश शासन से मुक्त होने के बाद, वह कांग्रेस प्रशासन के निमंत्रण को स्वीकार करने के बाद देश के पहले कानून मंत्री के रूप में काम करने के लिए सहमत हुए थे।

PostImage

Vaingangavarta19

April 9, 2024   

PostImage

भारतीय राज्यघटनेचे शिल्पकार डॉ बाबासाहेब आंबेडकर यांच्या जयंतीचा सोहळा आष्टी …


भारतीय राज्यघटनेचे शिल्पकार डॉ बाबासाहेब आंबेडकर यांच्या जयंतीचा सोहळा आष्टी शहरात होणार धुमधडाक्यात साजरा

 


आष्टी : -
येथील धम्मदिप बौध्द समाज मंडळाचे वतीने भारतीय राज्यघटनेचे शिल्पकार डॉ बाबासाहेब आंबेडकर यांच्या जयंतीचा सोहळा धुमधडाक्यात साजरा करण्यात येणार आहे 
 डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर यांचा जन्मदिवस आणि एक प्रमुख भारतीय सण व उत्सव आहे. हा सण दरवर्षी १४ एप्रिल रोजी भारतासह जगभरात साजरा केला जातो.  भारत सरकार सुद्धा राष्ट्रीय सन म्हणून साजरा करीत असतो
 यानिमित्ताने चामोर्शी तालुक्यातील आष्टी शहरात धम्मदीप बौद्ध समाज मंडळाच्या वतीने दिनांक १३ एप्रिल रोजी सकाळी ०९:०० वाजता बाईक रॅली व सायंकाळी ०६:०० वाजता  मुला - मुलींचे सांस्कृतिक कार्यक्रम घेण्यात येणार आहेत आणि दिनांक १४ एप्रिल रोजी सकाळी ०९:०० वाजता मानवंदना व दुपारी १२:०० जुन्या ग्रामीण रुग्णालयाजवळ भोजनदान देण्यात येणार असून सायंकाळी ०६:०० वाजता भव्यदिव्य समाजबांधवांची मिरवणूक काढण्यात येणार आहे करीता आष्टी शहरातील सर्व उपासक तथा उपासीकांनी बहुसंख्येने उपस्थित राहण्याचे आवाहन धम्मदीप बौद्ध समाज मंडळ आष्टी चे अध्यक्ष अमित नगराळे, आणि पदाधिकाऱ्यांनी केले आहे आहे


PostImage

Sanket dhoke

March 30, 2024   

PostImage

Ajche Rashibhavish ; ३० मार्च २०२४ ; धन लाभाची शक्यता, …


Ajche Rashibhavish :- आर्थिक लाभाची शक्यता, विरोधकांवर विजय; यश आणि प्रसिद्धीचा दिवस

मेष : आज तुम्ही सांसारिक गोष्टी विसराल. गूढ आणि गूढ शास्त्रांमध्ये तुमची आवड वाढेल. कोणत्याही विषयात प्राविण्य मिळवण्यासाठी आजचा दिवस अनुकूल आहे. अनर्थ घडू नये म्हणून बोलताना संयम बाळगा. शत्रूंचा त्रास होईल. शक्य असल्यास कोणतेही नवीन काम सुरू करू नका.

वृषभ : आज तुम्ही वैवाहिक जवळीक साधू शकाल. सामाजिक कार्यक्रमांना बाहेर जाणे किंवा कुटुंबासोबत सहलीला जाणे यामुळे वेळ आनंददायी जाईल. आनंद अनुभव कर. सार्वजनिक जीवनात यश आणि कीर्ती मिळेल. व्यापाऱ्यांना व्यवसायाचा विस्तार करता येईल. भागीदारीतून लाभ होईल. अचानक आर्थिक लाभ होईल. परदेशातून बातम्या मिळतील.

मिथुन : अपूर्ण कामे पूर्ण करण्यासाठी आजचा दिवस बरोबर आहे. कुटुंबात आनंदाचे वातावरण राहील. आरोग्य चांगले राहील. कामात यश आणि प्रसिद्धी मिळेल. जर तुम्ही तुमच्या रागावर नियंत्रण ठेवले आणि इतरांशी बोलताना मृदू बोलले तर मतभेद होणार नाहीत. आर्थिक लाभ होईल. आवश्यक तेवढा खर्च करा. प्रतिस्पर्ध्यांवर मात करा. नोकरीत लाभ होईल.

कर्क : आजचा दिवस शांततेत जाईल. शारीरिक आणि मानसिक तणाव राहील. पैसे अचानक खर्च होतील. प्रेमीयुगुलांमध्ये भांडणे होतील. नवीन काम किंवा प्रवास सुरू न करणे हिताचे राहील.

सिंह : आज तुम्ही मानसिक अस्वस्थता अनुभवाल. कुटुंबातील सदस्यांशी मतभेद होतील. जमीन, घर किंवा वाहन खरेदी-विक्रीसाठी आजचा दिवस अनुकूल नाही. नकारात्मक विचारांमुळे निराशा होईल. कामावर रहा.

कन्या : आज विचार न करता कोणतेही धाडसी पाऊल उचलू नका. भावनिक संबंध प्रस्थापित होतील. भाऊ-बहिणीच्या नात्यात गोडवा राहील. आपण मित्र आणि नातेवाईकांशी संवाद साधू शकता. गूढ आणि गूढ शास्त्रांचे आकर्षण राहील. तुम्हाला काही विषयात प्राविण्य मिळेल. विरोधक आणि प्रतिस्पर्ध्यांना कडाडून विरोध करावा लागेल.

तूळ : आज आपली मानसिकता नकारात्मक राहील. रागावर नियंत्रण न ठेवल्याने कुटुंबातील सदस्यांशी मतभेद होतील. Waffles खर्च होईल. मनात चिंता निर्माण होईल. बेकायदेशीर कामात अडकू नका. विद्यार्थ्यांच्या अभ्यासात अडथळे येतील.

वृश्चिक : आजचा दिवस शुभ आणि फलदायी आहे. शारीरिक आणि मानसिक आनंदाचा अनुभव घ्याल. कुटुंबियांसोबत आजचा दिवस आनंदात जाईल. तुम्हाला मित्र आणि नातेवाईकांकडून भेटवस्तू मिळतील. प्रिय व्यक्तीशी संवाद साधण्यात तुम्ही यशस्वी व्हाल. मंगळवारी कार्यक्रमाला उपस्थित राहणार आहेत. धनलाभ आणि प्रवास संभवतो. वैवाहिक जीवनात आनंदाचा अनुभव येईल.

धनु: आज तुमचा राग तुमच्या कुटुंबातील आणि इतर लोकांसोबतचे संबंध तोडेल. तुमच्या बोलण्यातून आणि वागण्यामुळे वाद निर्माण होतील. न्यायालयीन कामकाजात सावध राहा. निरुपयोगी कामात तुमची शक्ती वाया जाईल.

मकर : आजचा दिवस प्रत्येक कामात लाभदायक आहे. मित्रांच्या भेटीगाठी होतील. प्रिय व्यक्तीचा सहवास संस्मरणीय राहील. विवाहित लोकांच्या समस्या किरकोळ प्रयत्नांनी सुटतील. व्यावसायिकांच्या व्यवसायात वाढ होईल आणि नोकरदारांच्या नोकरीत वाढ होईल. कौटुंबिक जीवनात आनंद राहील. नवीन वस्तूंची खरेदी होईल.

कुंभ: आज प्रत्येक काम प्रत्यक्षपणे पूर्ण होईल आणि यश मिळेल. नोकरी-व्यवसायात अनुकूल परिस्थिती राहील. सरकारी कामे सुरळीतपणे पूर्ण होतील. वरिष्ठ अधिकारी सहकार्य करतील. आरोग्य चांगले राहील. मानसिक उत्साह अनुभवाल. पदोन्नती आणि आर्थिक लाभ संभवतात. तुमचे कौटुंबिक जीवन आनंदी राहील आणि तुमचा आदर वाढेल.

मीन: आजची सुरुवात भीती आणि चिंतेने होईल. शरीरात सुस्ती आणि थकवा जाणवेल. कोणतेही काम पूर्ण न झाल्याने नैराश्य येईल. नशीब तुम्हाला साथ देणार नाही. कार्यालयात वरिष्ठांशी मतभेद होतील. मुलांची आज मोठी चिंता राहील. अनावश्यक पैसा खर्च होईल.

 

*अशाच बातम्य साठी Vidharbh News What's App ग्रुप ला जॉईन व्हा, What's app ग्रुप ला जॉईन होण्यसाठी खालील लिंक वर  क्लिक करा.*

 

       

 ⬇️

 

https://chat.whatsapp.com/IPm3HgmL9MiJq9rXSGzsAW

 

*आमच्या vidharbh News च्या What's App चॅनेलला फॉलो करा*

https://whatsapp.com/channel/0029VaHnI2BIXnlrTXSG3A1w

 

*वेबाईटवर जाहिरात देण्यासाठी खालील नंबरवर संपर्क करा*

 

☎️ : _७७५८९८६७९८_

*_जॉईन व्हा, बातमी वाचा, शेयर करा._*


PostImage

Swapnilmadavi

March 28, 2024   

PostImage

Tiger Triumph : भारतीय सेना की बटालियन अमेरिका के साथ …


NEW DELHI : भारतीय सेना (Indian Army) का एक बटालियन समूह, जिसमें 700 से अधिक कर्मी शामिल हैं, भारत और अमेरिका के बीच पूर्वी समुद्री तट पर चल रहे द्विपक्षीय त्रि-सेवा अभ्यास - 'टाइगर ट्रायम्फ (tiger triumph) -24' में भाग ले रहा है. 18-31 मार्च तक चलने वाले इस अभ्यास का उद्देश्य मानवीय सहायता और आपदा राहत (HDR) संचालन के संचालन के लिए अंतरसंचालनीयता विकसित करना और दोनों देशों की सेनाओं के बीच तेजी से और सुचारू समन्वय को सक्षम करने के लिए SOP को परिष्कृत करना है.

रक्षा प्रतिष्ठान (defense establishment) के सूत्रों ने कहा कि भारतीय सेना की टुकड़ी, (Indian Army contingent) जिसमें एक बटालियन समूह शामिल है, भारतीय नौसेना (Indian Navy) और भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) के साथ त्रि-सेवा (tri-service) अभ्यास के दूसरे संस्करण में भाग ले रही है. 14 दिवसीय अभ्यास दो चरणों में आयोजित किया जा रहा है जिसमें विशाखापत्तनम में बंदरगाह (Port in Visakhapatnam) चरण और उसके बाद काकीनाडा में समुद्री (Marine in Kakinada) चरण शामिल है.


PostImage

Janvikhobragade

March 23, 2024   

PostImage

ISRO : इसरो ने RLV-LEX-02 लैंडिंग सफलतापूर्वक हासिल किया


ISRO ने शुक्रवार को कहा कि उसने RLV Lex-02 Landing प्रयोग के माध्यम से पुन: प्रयोज्य प्रक्षेपण यान प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है. यह कर्नाटक में एयरोनॉटिकल टेस्ट रेंज, (Aeronautical Test Range) चित्रदुर्ग में सुबह 7.10 बजे आयोजित श्रृंखला का दूसरा परीक्षण है. पिछले साल RLV-LX-01 Mission पूरा होने के बाद, आरएलवी-एलईएक्स-02 (rlv-lex-02) ने हेलीकॉप्टर से रिलीज होने पर नाममात्र की प्रारंभिक स्थितियों से पुन: प्रयोज्य लॉन्च वाहन (RLV) की स्वायत्त लैंडिंग क्षमता का प्रदर्शन किया, बेंगलुरु मुख्यालय वाली अंतरिक्ष एजेंसी ने एक में कहा कथन. “RLV को फैलाव के साथ अधिक कठिन युद्धाभ्यास करने, क्रॉस-रेंज और डाउनरेंज (Cross-range and downrange) दोनों को सही करने और पूरी तरह से स्वायत्त मोड में रनवे पर उतरने के लिए बनाया गया था,” यह कहा. पुष्पक नामक पंखों वाले वाहन को भारतीय वायु सेना (Indian Air Force) के चिनूक हेलीकॉप्टर (chinook helicopter) द्वारा उठाया गया और 4.5 किमी की ऊंचाई से छोड़ा गया। रनवे से 4 किमी की दूरी पर रिलीज होने के बाद, पुष्पक स्वायत्त रूप से क्रॉस-रेंज सुधारों के साथ रनवे पर पहुंचा.
 
ISRO ने कहा, यह रनवे पर ठीक से उतरा और अपने ब्रेक पैराशूट, लैंडिंग  गियर ब्रेक और नोज व्हील स्टीयरिंग सिस्टम का उपयोग करके रुक गया. इसमें कहा गया है कि इस मिशन ने अंतरिक्ष से लौटने वाले RLV के दृष्टिकोण और उच्च गति लैंडिंग स्थितियों का सफलतापूर्वक अनुकरण किया. अंतरिक्ष एजेंसी (space agency) ने कहा, "इस दूसरे मिशन के साथ, इसरो ने अंतरिक्ष में लौटने वाले वाहन की उच्च गति वाली स्वायत्त लैंडिंग के लिए आवश्यक नेविगेशन, नियंत्रण system, landing गियर और मंदी प्रणाली के क्षेत्रों में स्वदेशी रूप से विकसित प्रौद्योगिकियों को फिर से मान्य किया है.


PostImage

Rameshmohurle

March 19, 2024   

PostImage

India once again rejected Chinese claims : भारत ने एक …


New Delhi : भारत ने अरुणाचल प्रदेश पर चीन द्वारा किए गए "बेतुके दावों" और "निराधार तर्कों" को फिर से कर दिया खारिज और कहा है कि पूर्वोत्तर राज्य "भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है
 
विदेश मंत्रालय (foreign Ministry) ने आज एक आधिकारिक बयान में कहा कि अरुणाचल प्रदेश के लोगों को भारत के विकास कार्यक्रमों और बुनियादी ढांचा परियोजनाओं से "लाभ मिलता रहेगा.

विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता (Official Spokesperson of the Ministry of External Affairs) ने कहा, "हमने चीनी रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता द्वारा भारतीय राज्य अरुणाचल प्रदेश के क्षेत्र पर बेतुके दावों को आगे बढ़ाते हुए की गई टिप्पणियों पर ध्यान दिया है. इस संबंध में आधारहीन तर्क दोहराने से ऐसे दावों को कोई वैधता नहीं मिलती है.

रणधीर जयसवाल (Randhir Jaiswal) बयान में कहा गया, "अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा  है और हमेशा रहेगा. इसके लोगों को हमारे विकास कार्यक्रमों और बुनियादी ढांचा परियोजनाओं से लाभ मिलता रहेगा.
 
चीनी रक्षा मंत्रालय (Chinese Defense Ministry) ने हाल ही में अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) पर अपना दावा दोहराया, और भारतीय राज्य को "ज़ंगन- चीन के क्षेत्र का एक अंतर्निहित हिस्सा" करार दिया.

राष्ट्रीय रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता वरिष्ठ कर्नल झांग ज़ियाओगांग (Senior Colonel Zhang Xiaogang, spokesperson of the Ministry of National Defense) ने 15 मार्च को कहा, "ज़ंगनान चीन का अंतर्निहित क्षेत्र है, और चीन भारत द्वारा तथाकथित 'अरुणाचल प्रदेश' की अवैध स्थापना को कभी मान्यता नहीं देता है और इसका दृढ़ता से विरोध करता है.
चीनी सेना (Chinese army) की यह टिप्पणी भारत द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अरुणाचल प्रदेश यात्रा पर की गई टिप्पणियों के लिए चीन को कड़ा जवाब देने के कुछ दिनों बाद आई है.